Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi

शेर और चूहा की कहानी-Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi 

आज हम आपके लिए Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi लेकर के आये है|- दोस्तों आज के लेख में हम आपके लिए छोटे-छोटे बच्चों के लिए एक बहुत अच्छी शिक्षा देने वाली कहानी लेकर के आए हैं और उस कहानी का नाम है शेर और चूहा की कहानी। यह कहानी हमें एक बहुत बड़ी शिक्षा देकर जाती है। हमें कभी भी किसी को कमजोर नहीं समझना चाहिए। सही समय आने पर एक कमजोर भी बहुत बड़े काम कर देता है। इस प्रकार की कई मजेदार ज्ञान की बातें हम शेर और चूहा की कहानी से जानेंगे।

Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi शेर और चूहा की कहानी

Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi– एक समय की बात है जंगल में एक शेर रहता था।एक दिन वह अपनी गुफा के सामने गहरी नींद में सो रहा था। शेर की गुफा के पास में ही एक चूहा उछल कूद कर रहा था। जब चूहे की नजर सोए हुए शेर पर गई तो चूहा ने सोचा कि क्यों ना मैं शेर के ऊपर उछल कूद करू बड़ा मजा आएगा। यह सोचने के बाद चूहा कुछ ही देर में शेर के ऊपर चढ़कर जोर-जोर से उछल कूद करने लग गया।

Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi
Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi

गहरी नींद में सोया हुआ शेर चूहे की उछल कूद से परेशान होकर नींद से अचानक जग जाता है। इस समय शेर बहुत तेज गुस्से में होता है। शेर अचानक से झपक कर चूहा को अपने पंजे में जकड़ के पकड़ लेता है। शेर बड़े ही गुस्से में उस चूहे से कहता है तुमने मेरी नींद खराब कर दी मैं तुम्हें नहीं छोडूंगा मैं तुम्हें चबाकर खा जाऊंगा। बस इतना सुन कर के चूहा बोलता है महाराज-महाराज मुझसे बहुत बड़ी भूल हो गई मुझे क्षमा कर दीजिए मैं आपको कभी परेशान नहीं करूंगा मुझे जाने दीजिए। महाराज में छोटा सा जीव हूं मुझसे आपकी भूख नहीं मिटेगी मुझे छोड़ दीजिए मैं एक दिन आपके जरूर कुछ काम आऊंगा।

चूहा बना शिकार Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi

चूहे की यह बात सुनकर के शेर को बड़ी हंसी आती है। और शेर चूहे से कहता है तुम एक नन्हे से जीव हो भला तुम मेरे क्या काम आओगे। खैर आज तो मैं तुम्हें जाने देता हूं लेकिन याद रहे आगे से ऐसी गलती माफ नहीं की जाएगी। यह कहकर के शेर चूहे को छोड़ देता है। जिससे चूहा अपनी जान बचा कर के भाग जाता है। एक दिन जंगल में शेर का शिकार करने के लिए कुछ शिकारी आए आए हुए थे। शेर शिकारियों के द्वारा बिछाए गए उनके जाल में बुरी तरह से फंस जाता है। शेर अपने ताकतवर पंजों का उपयोग करके उस जाल से निकलने की खूब कोशिश करता है मगर शेर उस जाल से नहीं निकल पाता है। जिससे शेर हताश होकर के बैठ जाता है।

कुछ देर बाद पास में एक चूहा दौड़ा-दौड़ा आता है। और चूहा शेर से कहता है महाराज आप चिंता ना करें मैं इस जाल को अपने दांतो से अभी काट कर आप को आजाद कर देता हूं। यह सब कहने के तुरंत बाद चूहा जाल को काटना शुरू कर देता है। एक एक कर के चूहा कुछ ही देर में पूरे जाल को काट देता है। जिससे शेर आजाद हो जाता है। शेर चूहे की यह बहादुरी देखकर के शेर बहुत खुश होता है व चूहे को धन्यवाद देता है। और इसके साथ ही शेर और चूहे की मित्रता हो जाती है।

Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi

शिक्षा- Sher Aur Chuha Ki Kahani In Hindi

बच्चों Sher Aur Chuha Ki Kahani- शेर और चूहे की कहानी से हमें एक दूसरे की मदद करने की शिक्षा मिलती है। इसके साथ ही हमें किसी को भी छोटा ना समझने की शिक्षा मिलती है।

यह भी जरूर जाने- 10 Lines on Mouse in Hindi

तो बच्चों आज हमने Sher Aur Chuha Ki Kahani in Hindi पढ़ी तो बच्चों आप शेर और चूहे की कहानी से यह जान गए होंगे कि किस प्रकार एक छोटा सा जीव किसी बड़े ताकतवर जिओ जानवर के बहुत बड़ा काम आ सकता है। इसलिए हमें कभी किसी को छोटा नहीं समझना चाहिए। और हमें एक दूसरे की मदद व साथ देना चाहिए। यह शेर और चूहे की कहानी आप अपने घर पर सभी को सुना सकते हैं आपको हमारे द्वारा लिखी गई यह प्यारी सी कहानी कैसी लगी हमें अपने विचार जरूर बताएं। आपका धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.