Raksha Bandhan Poem In Hindi

रक्षाबंधन पर कविताए | Raksha Bandhan Poem In Hindi

Raksha Bandhan Poem In Hindi – हेलो दोस्तों ! आप सब लोग जानते होंगे कि बहुत जल्द राखी का त्यौहार आने वाला है। यह त्यौहार सावन के महीने में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह त्यौहार पूरे भारत में बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाता है। राखी आने से पहले सभी शहरों के बाजार रंग-बिरंगी राखियों से सज जाते हैं। जहां सभी बहने ने भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए इस दिन का इंतजार करती है। उसी तरह भाई भी अपनी प्यारी बहन से राखी बंधवाने के लिए इस दिन का इंतजार करते हैं। भाई चाहे सरहद पार ही क्यों ना हो लेकिन एक बहन अपने भाई को राखी भेजना कभी नहीं भूलती।

रक्षाबंधन के बारे में जाने

राखी को रक्षाबंधन का त्यौहार भी कहा जाता है क्योंकि किस दिन बहने अपने भाई के हाथों में रक्षा का सूत्र बांधती हैं। राखी का त्यौहार भाई बहन के रिश्ते में प्रेम के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है | दोस्तों इस दिन सभी बहने अच्छे से श्रृंगार करके अपने भाई के हाथ में राखी बांधती है, तिलक लगाती है, और पूजा करके उसे अपने हाथों से मिठाई खिलाती है। बहने अपने भाई के लिए दीर्घायु की कामना करती हैं और सभी भाई अपनी बहन की रक्षा करने का वादा करते हैं। वैसे तो सभी भाई बहनों के लिए यह दिन बहुत खास होता है लेकिन इस दिन को बहने अपने भाइयों के लिए और खास बना सकती है।

हमारे द्वारा लिखी हुई रक्षाबंधन पर कविता Poem On Raksha Bandhan सुना कर। आज हम आपके लिए रक्षाबंधन पर कविताऐं  (Poem On Raksha Bandhan) लेकर आए हैं। यह कविता राखी बांधकर अपने भाई को जरूर सुनाएं और इस पावन पर्व पर भाई बहन के रिश्ते को और मजबूत करें।

रक्षाबंधन पर कविताएं ( Poem On Raksha Bandhan ) नीचे दी गई है इसे जरूर पढ़ें।

राखी आई राखी आई 

दीदी जब घर पर है आई 

फूलों वाली मोतियों वाली

 ऐसी राखी दीदी लाई 

कुमकुम राखी और मिठाई 

रखकर थाली है सजाई

बैठ के तिलक लगाकर भैया ने 

कलाई पर राखी है बंधवाई

करके दीदी को रक्षा का वादा

  भैया ने खाई रसमलाई 

देके दीदी को राखी का उपहार

 हमने खाई खूब मिठाई

                                           _पूजा महावर

Raksha Bandhan Par 10 Line  

रक्षाबंधन का पर्व कुछ खास है आया, 

बाजार राखियों से जब है सजाया।

भाई बहन के प्यार को इसने है दर्शाया,

जब आगे है भैया ने अपना हाथ बढ़ाया,

तो बहना ने राखी बांधकर,

कुमकुम का तिलक लगाया,

तिलक लगाकर भैया का, 

जब मुंह मीठा हैं कराया, 

तब बहन का प्यार पाकर भैया है मुस्कुराया।

राखी बांधकर बहना ने रक्षा का वचन है पाया,

खुशियों का माहौल है चारों ओर छाया, 

रक्षाबंधन का पर्व कुछ खास है आया। 

                                                               

                                                            _पूजा महावर

10 Lines On Raksha Bandhan In Hindi – रक्षाबंधन पर कविताए

आया राखी का त्यौहार

 प्रेम कि बरस रही बहार 

भैया करते राखी का इंतजार 

सावन में आए जब ये त्यौहार 

लम्हा है अब यह कुछ खास 

रिश्तो में घुल जाए प्यार की मिठास

धागे में पिरो कर अपना प्यार

 भैया को बांधे राखी आज

खुशियों की उड़ रही फुहार 

आया राखी का त्यौहार

                                                 _पूजा महावर

यह भी जरूर पड़े – रक्षाबंधन पर अनमोल सुविचार | Raksha Bandhan Quotes In Hindi

Raksha Bandhan Poem In Hindi – दोस्तों हम आशा करते हैं आपको यह कविताएं जरूर पसंद आई होगी। हमारे द्वारा लिखी गई रक्षाबंधन पर कविताएं (Poem On Raksha Bandhan) आपको कैसी लगी यह हमें कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और भी कविताएं जाने के लिए भी आप हमें कमेंट कर सकते हैं।

Pooja Mahawar

पूजा महावर को हिंदी ब्लोग्स लिखना पसंद है | इनको हिंदी कबिता लिखने में बहुत रुचि है यह 6 वर्षो से कविता लिख रही है

View all posts by Pooja Mahawar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *